Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya – बिजली का आविष्कार किसने और कब किया?

Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya :- नमस्ते दोस्तों आप सभी का स्वागत है एक और नए आर्टिकल में और आज के इस पोस्ट में हम जानने वाले है की बिजली का आविष्कार किसने और कब किया था। जैसा की हम जानते ही है की दुनिया में ऐसे बहुत से आविष्कार हुए है जो अगर आज ना हुए होते तो दुनिया आज भी वैसी की वैसी होती इन डिजिटल चीजों के बारे में कोई सोंचता भी नहीं, क्योंकि बहुत से आविष्कार ऐसे हुए है जिस आविष्कार नें दुनिया बदल दी है।

उदाहरण के लिए जैसे की आज से काफी वर्षों पहले जब स्टीम इजन का आविष्कार हुआ था तब उसे पानी के द्वारा चलाया जाता था इसके लिए सबसे पहले पानी का ईंधन के रूप में डालना पड़ता था और जब वह पानी गर्म हो जाता था उस पानी से जो भाप बनकर निकलता था उसी की शक्ति के द्वारा इंजन चलता था।

लेकिन यह आविष्कार इतना सुलभ नहीं था और फिर इसके लिए हमे किसी दूसरे बाह्य बल की आवश्यकता थी जिससे की इंजन को चलाया जा सके और यही कारण है की बिजली के आविष्कार नें दुनिया को बदल कर रख दिया है। और आज के समय में ज्यादातर मोटरकार, रेलगाड़ी तथा बहुत से वाहन बिजली के द्वारा ही चलाए जाते हैं।

बिजली क्या है? What is Bijli

बिजली एक ऐसी शक्ति है जो वर्तमान में उपस्थित किसी भी एलेक्ट्रिकल चीजें जैसे की इलेक्ट्रिक कार, बल्ब, इलेक्ट्रिक बाइक, रेलगाड़ी तथा सभी एलेक्ट्रिक उपकरण को चलाने के उपयोग में लिया जाता है। बिजली बनाने के लिए भी हमे किसी दूसरे उपकर या किसी बाह्य बल की आवश्यकता होती है।

बिजली प्राप्त करने के लिए पवन ऊर्जा, सूर्य ऊर्जा, जनरेटर तथा विभिन नदियों के झीलों में टरबाईन लगाया जाता है जिससे की बिजली का निर्माण किया जाता है। बिजली हमारे जीवन का एक ऐसा श्रोत है है जिसने हमारे जीवन को गति प्रदान की है।

आज हम मोबाइल, कंप्यूटर, इटरनेट, वाहन जो भी इस्तेमान करते है वह सब बिजली के द्वारा ही संभव हो पाया है यकीनन अगर बिजली ना होता तो ये सभी चीजें भी ना होती और इस आविष्कार नें हमारे दैनिक जीवन में बढ़ोत्तरी की है।

आज आप देखेंगे की जितने भी लोग हैं उनके घरों में और जितनी भी छोटी से लेकर बड़ी कंपनियां हैं हर जगह बिजजी का इस्तेमान किया जाता है और आप सोंचो की अगर आज के समय में पूरे विश्व में 24 घंटे के लिए बिजली का उपयोग बंद कर दिया जाते तो इससे ना जाने कितने अरबों करोड़ों का नुकसान भुगतना पड़ जाएगा।

लगभग हर मनुष्य आज के समय में एलेक्ट्रिसिटीपर निर्भर है क्योंकि इसके बिना कुछ बहुत कुछ संभव नहीं है और इसीलिए आज के इस पोस्ट में हम बिजली से संबंधित (Bijli Information in Hindi) सभी जानकारी इस आर्टिकल में जानने वाले हैं और आप बेहतर जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ना।

बिजली का आविष्कार किसने किया था? Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya Tha

Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya -बिजली का आविष्कार सबसे पहले 1831 में हुआ था जिसे माइकल फैराडे नाम के व्यक्ति नें किया था। इन्होंने इलेक्ट्रिक डायनेमो की खोज की थी। इनके द्वारा खोजा गया यह एलेक्ट्रिक डायनेमो में एक चुंबक लगा था एक तांबे के तार की एक कुंडली में धूमत था और इससे विद्युत उत्पन्न होता था।

माइकल फैराडे के इस आविष्कार बिजली की दुनिया की एक नई ज्योति जगाई थी थी, इनके एलेक्ट्रिक डायनेमो द्वारा ज्यादा नहीं थोड़ी ही मात्रा में करंट उत्पन्न करता था लेकिन इससे यह ज्ञात हो चुका था की अब वो दिन दूर नहीं जब हम बिजली का इस्तेमाल कर पाएंगे। और इसके बाद इससे अलग अलग जगहों पर अनेकों प्रयोग किए गए।

और लाइट के इस खोज के बाद बहुत से वैज्ञानिक बिजली की मदद से ही अनेकों आविष्कार किए है जैसे की सबसे पहले सन 1878 में थॉमस अल्वा एडिसन नें बल्ब का आविष्कार किया तथा ऐसे ही कई आविष्कार लाइट की खोज होने के बाद शुरू हो गए थे।

और लाइट के इस खोज का नतीजा यह है की आज आप देख ही सकते हैं की ज्यादातर उपकरण बिजली के द्वारा ही चलते हैं।

बिजली का आविष्कार कब हुआ था? Bijli Ka Avishkar Kab Hua Tha

सर्वप्रथम बिजली का आविष्कार सन् 1831 में हुआ था। लेकिन इस आविष्कार के पहले भी इसके कई सारे खोज कई महान वैज्ञानिकों के किया है और मुख्य रूप से विद्युत को खोजने का श्रेय बेंजामिन फ्रेंकलिन को दिया जाता है क्योंकि इन्होंने अपने कई प्रयोगों में इस चीज को पाया है।

यूं माने की हम बिजली के खोज का श्रेय किसी एक व्यक्ति को नहीं दे सकते हैं इसे कई वैज्ञानिकों के द्वारा खोजा गया है जैसे की इसे थेल्स नामक वैज्ञानिक नें भी खोजा था। थेल्स नें अपने प्रयोगों में पाया की एम्बर में प्रकाश की वस्तुओं को अपनी और आकर्षित करने से उसमे घर्षण बल उत्पन्न होता है।

बिजली कैसे बनती है? Bijli Kaise Banti Hai in Hindi

Bijli Kaise Banai Jati Hai इसके बारे में भी हम जान लेते हैं। क्योंकि बिजली बनाने के लिए भी हमे किसी बाह्य बल की आवश्यकता होती है जिससे की हम बिजली पैदा कर सकें और इसके लिए हम कई सारे प्राकृतिक साधन को अपनाते है जो की निम्नलिखित हैं।

  1. ज्यादातर बिजली पैदा करने के लिए जल का प्रयोग किया जाता है। इसके लिए बड़े बड़े झीलों पर जहां पर बहुत ज्यादा मात्रा में पानी नीचे गिरता है वहाँ पर नीचे टर्बाइन की मदद से बिजली पैदा की जाती है।
  2. पवन शक्ति द्वारा भी बिजली पैदा की जाती है, इसके लिए ऐसे बहुत से क्षेत्र हैं जहां पर काफी तेजी से हवाएं चलती रहती है वहाँ उन स्थानों पर बड़े बड़े पंखे लगाए जाते हैं और बिजली पैदा की जाती है।
  3. आज के समय में ऐसे बहुत से इंजन, जेनरेटर भी मिल जाते हैं जिससे बिजली पैदा कर सकते हैं।

बिजली का इतिहास –

बिजली का इतिहास भी काफी रोमांचक रहा है और आज हम जो भी Electric समान इस्तेमाल कर रहे है या आपके सामने जो एलेक्ट्रिक समान आपको दिख रहा है उसे बनाने के लिए या सबसे पहले उसे खोजने के लिए वैज्ञानिकों को सालों की मेहनत लगी है।

कई महान वैज्ञानिकों नें अपने अपने अलग अलग प्रयोग किए हैं और आने वाले 17वीं सदी तक बिजली से संबंधित बहुत सी खोजें हो चुकी थी।

आने वाले कुछ वर्षों बाद सन् 1800 में इटली के महान वैज्ञानिक एलेसेंड्रो नें अपने रासायनिक अभिक्रियाओं के जरिए बिजली का उत्पादन करके दिखाया। यह यह आविष्कार आगे चलकर सफल भी रही जिससे की लगातार बिजली का उत्पादन किया जा सकता था।

बिजली के बारे में कुछ रोचक तथ्य

  • आपको पता होना चाहिए कि बिजली में इतनी शक्ति होती है की अपने भारत में हर वर्ष लगभग 3000 से भी ज्यादा व्यक्ति बिजली के कारण मारे जाते हैं।
  • बिजली की अच्छी प्रवाह गति के लिए अच्छे धातु की आवश्यकता होती है और आपको यह पता होना जरूरी है की बिजली प्रवाह के लिए सबसे अच्छा धातु चांदी है।
  • पूरे दुनिया में सबसे ज्यादा बिजली का उत्पाद पानी द्वारा किया जाता है।
  • सोलर पैनल से भी बिजली उत्पन्न की जाती है और ज्यादातर सोलर पैनल इस्तेमाल करने वाला राज्य गुजरात है।
  • आसमानिए बिजली में इतनी ऊर्जा होती है की उससे 100 वॉट का बल्ब लगभग 4 महीने तक जला सकते हैं।

FAQ

बिजली का आविष्कार किस देश में हुआ था?

बिजली का आविष्कार सर्वप्रथम अमेरिका देश में हुआ था।

सबसे पहले बिजली कहाँ आई थी?

अमेरिका में।

बिजली की खोज किसने की?

बिजली खोज करने का श्रेय किसी एक व्यक्ति को नहीं जाता है क्योंकि इसे कई लोगों ने खोज किया है जिसमें से बेंजामिन फ्रेंकलिन का नाम भी इतिहास में दर्ज है।

बिजली की खोज कब हुई?

बिजली की खोज प्राचीन काल में आज से 600 वर्ष पूर्व हुआ था।

लाइट की खोज किसने की थी?

लाइट की खोज माइकल फैराडे नें की थी।

सबसे पहले बिजली किसने बनाई?

माइकल फैराडे नें।

बिजली के जन्मदाता कौन हैं?

सर्वप्रथ बिजली का आविष्कार माइकल फैराडे नें किया था तो इस हिसाब से आधुनिक रूप से बिजली के जन्मदाता माइकल फैराडे ही हैं।

भारत में बिजली कब आई?

भारत में सर्वप्रथम 24 जुलाई 1879 को कोलकाता में बिजली का उपयोग किया गया था।

Leave a Comment