Hindi Ki Khoj Kisne Ki – हिन्दी भाषा की खोज किसने और कब की थी?

Hindi Ki Khoj Kisne Ki :- भारत देश में सबसे ज्यादा हिन्दी बोली जाती है और ऐसा माना जाता है की भारत देश की मात्रभाषा हिन्दी है। यकीनन आप भी हिन्दी शब्द का ही इस्तेमाल ज्यादातर बोलने पढ़ने तथा लिखने के लिए करते होंगे। वैसे तो भारत देश के अंदर हिन्दी की अलावा कई अन्य भाषाएं अलग अलग जगहों पर बोली जाती है परंतु हिन्दी उन सभी भाषाओं में से एक है जिसका इस्तेमाल भारत का प्रत्येक व्यक्ति करता है।

हम सभी हिन्दी शब्द का इस्तेमाल पहने लिखने तथा बोलने के लिए करते है लेकिन क्या आपको पता है की हिन्दी शब्द की खोज किसनें की थी? क्योंकि बहुत से भाई लोगों को इस बारे में जानकारी नहीं है की हिन्दी की खोज किसने की थी और कब की थी।

इसीलिए दोस्तों आज का यह पोस्ट आप पूरी अंत तक जरूर पढ़ना क्योंकि आज के इस पोस्ट में ( Hindi Ki Khoj Kisne Ki Thi , Hindi Ki Khoj Kab Hui , Hindi Bharat Ki Khoj Class 8 , Hindi Vernmala Ki Khoj Kisne Ki , Hindi Khojne Ki Khoj , Hindi Ki Khoj Kab Aur Kisne Ki ) इन सभी प्रश्नों के सही उत्तर मिलने वाला है। तो चलिए शुरू करते हैं –

हिन्दी भाषा की खोज किसने की थी? – Hindi Bhasha Ki khoj Kisne Ki Thi

वैदिक संस्कृत के बाद हिन्दी भाषा का निर्माण हुआ और इस हिन्दी भाषा की खोज हजारों वर्षों पूर्व हुआ था। हिन्दी भाषा इसी संस्कृत भाषा की उत्तराधिकारी मानी जाती है। मुख्य रूप से देखा जाए तो हिन्दी शब्द की खोज किसी नें नहीं किया था बल्कि यह हजारों वर्षों से चली आ रही एक प्राचीन भाषा है। जिसका खोज प्राचीन काल के महर्षियों, ऋषियों, मुनियों नें किया था।

और आज के समय में दुनिया और भारत के अंदर ही अनेकों भाषाएं है जो अलग अलग शहरों में बोली जाती है। वैसे इन भाषणों को 2 वर्गों में बाँटा गया है Indo-European/Indo-Germanic तथा Indo-Aryan

Indo-European/Indo-Germanic

यह Indo European/Indo-Germanic भाषा भारत के अलावा अन्य देशों जैसे की यूरोप, दक्षिण एशिया तथा ईरान जैसे देशों में भी बोली जाती है। यह Indo-European/Indo-Germanic भाषा अनेकों भाषाओं का तथा बोलियों का एक समूह है जिसमें कई सौ भाषाएं शामिल हैं। और इन सभी भाषाओं में व्याकरण और सिंटैक्स के शब्द ज्यादातर पाए जाते हैं।

भले ही शब्द और पैराग्राफ की स्क्रिप्ट अलग अलग हो तथा लेटिन शब्द की समानता इन भाषाओं में पायी जाती है। भारत के अलावा दक्षिण एशिया, ईरान, यूरोप के भाषाओं से हिन्दी, अंग्रेजी, जर्मन, इतालवी, स्पेनिश, पंजाबी, फ्रेंच बंगाली, जैसे शब्दों तथा भाषाओं की उत्पत्ति हुई है।

Indo-Aryan

यह Indo-Aryan भाषा प्राचीनकाल की भाषा का एक समूह है जिसमें सबसे पुरानी और वैदिक भाषा संस्कृत है। इस समूह की भाषाओं में हिन्दी, उर्दू, बंगाली, पंजाबी, गुजारती, मराठी, उड़िया, नेपाली, सिन्धी, जैसी भाषाएं शामिल हैं। और अगर बात की जाए भारत की तो भारत में इन सभी भाषाओं की उत्पत्ति संस्कृत भाषा से हुई है जो की Indo-Aryan के अंतर्गत आती है।

हिन्दी की खोज कब हुई थी? – Hindi Ki Khoj Kab Hui Thi

हिन्दी भाषा संस्कृत भाषा का उत्तराधिकारी है और वैदिक संस्कृत भाषा प्राचीन काल से (1500 ईसा पूर्व से 800 ईसा पूर्व) चली आ रही है। मुख्य रूप से हम यह कह सकते हैं की हिन्दी भाषा की को खोज प्राचीन काल लगभग 1500 ईसा पूर्व में हुई थी।

हिन्दी शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई?

Hindi Bhasha Ki Utpatti Kahan Se Hui Hai – संस्कृत भाषा की उत्पत्ति के बाद हिन्दी शब्द विकास को एक नए पथ पर ले आया है। पौराणिक संस्कृत शब्द का प्रमाण आज भी हमें वेदों तथा ग्रंथों में लिखे देखने को मिलते हैं क्योंकि यह उच्च वर्ग की भाषा में से एक मानी जाती है। और आज भी संस्कृत भाषा भारत के उत्तराखंड राज्य में आधिकारिक भाषा का दर्जा दिया गया है।

शास्त्रों में संस्कृत भाषा का वर्णन किया गया है और यह भाषा उच्च वर्ग की भाषा में से एक थी। धीरे धीरे परिवर्तन होता गया और युग बदलता गया और युग के दौरान पाली भाषा का भी निर्माण लगभग 500 ईसा में हुआ और इस भाषा का प्रयोग बौद्ध वर्ग के लोग करते थे। और आज भी ज्यादातर ज्यादातर इस भाषा का प्रयोग बौद्ध शास्त्रों में पाया जाता है।

इसी तरह यह दोनों भाषा विकसित होते रहे और इसी से इसके बाद लगभग सन् 500 से 1000 इस्वी में इसनें एक नई दूसरी भाषा को जन्म दिया जिसे खड़ी बोली हिन्दी (Khari Boli Hindi Ka Vikas) कहते हैं। और आज पूरे भारत में इस बोली का उपयोग किया जाता है।

हिन्दी भाषा की कितनी बोलियाँ है?

मुख्य रूप से हिन्दी भाषा को 5 भागों में वर्गों गया है और इन वर्गों को उपभाषा भी कहते हैं। इन पांचों उपभाषाओं के वर्गों के अंतर्गत 17 बोलियाँ आती है। जो की निम्नलिखित हैं –

  • अवधी भाषा
  • ब्रिजभाषा
  • कन्नौजी भाषा
  • बुन्देली भाषा
  • बघेली भाषा
  • कन्नड भाषा
  • तमिल भाषा
  • तेलुगु भाषा
  • मलियालम भाषा
  • हड़ोती भाषा
  • भोजपुरी भाषा
  • हरयाणवी भाषा
  • राजस्थानी भाषा
  • छत्तीसगढ़ी भाषा
  • मालवी भाषा
  • नागपुरी भाषा
  • खोरठा भाषा
  • कुमाऊँनी भाषा
  • पंचपरगनिया भाषा
  • मगही भाषा

भारत में लगभग इतनी भाषाएं बोली जाती है जिनमें से अवधी तथा ब्रिजभाषा प्रमुख है और इस भाषा में ही ज्यादातर उच्च श्रेणी के साहित्यों की रचना हुई है।

FAQ

भारत की राष्ट्र भाषा कौन सी है?

काफी लोगों का मानना है की भारत की राष्ट्रभाषा हिन्दी परंतु ऐसा नहीं है हिन्दी भारत की मात्रभाषा नहीं बल्कि हिन्दी एक राजभाषा है। क्योंकि हिन्दी भाषा को मात्रभाषा का दर्जा किसी भी संविधान में नहीं दिया गया है बल्कि भारत के अंदर 22 भाषाओं का आधिकारिक दर्जा दिया गया है जिसमें हिन्दी तथा इंग्लिश भाषा भी शामिल है।

हिन्दी भाषा कब बनी?

हिन्दी भाषा को 14 सितंबर 1949 में राजेन्द्र सिन्हा के 50वें जन्मदिन के दिन भारतीय संविधान द्वारा हिन्दी भाषा को आधिकारिक भाषा यानी की मात्र भाषा के रूप में चुना गया।

हिन्दी भाषा का आविष्कार कब हुआ?

हिन्दी भाषा का आविष्कार आज से हजारों वर्षों पहले प्राचीन काल में हुआ था।

प्राचीनतम भाषा कौन सी है?

संस्कृत भारत की सबसे प्राचीन भाषा है।

हिन्दी का जन्म कब और कैसे हुआ?

हिन्दी भाषा का प्रयोग आज से लगभग 2000 साल पहले प्राचीन काल से होना शुरू हुआ था, यानी की हिन्दी भाषा का जन्म करीब 1000 ईस्वी में हुआ था। यह भाषा सबसे प्राचीनतम भाषा में से एक है और इस भाषा को आर्य भाषा तथा देव भाषा भी कहा जाता है।

संस्कृत की खोज किसने की थी?

संस्कृत भाषा की खोज प्राचीन काल के महान ऋषियों, मुनियों नें की है और यह भाषा सबसे प्राचीन भाषा है और हिन्दी भाषा की खोज में संस्कृत भाषा का सबसे बड़ा योगदान है। ज्यादातर धार्मिक शास्त्र और ग्रंथ संस्कृत भाषा में ही लिखे गए हैं।

आखरी शब्द –

मुझे यकीन है की आज का यह पोस्ट (Hindi Ki Khoj Kisne Ki) आपको पसंद जरूर आया होगा और अब आपको पता चल गया होगा की Hindi Ki Khoj Kisne Ki Aur Kab Ki Thi आप इस पोस्ट को अपने सगे संबंधी के साथ शेयर जरूर करना और अगर आपका इस पोस्ट से संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो आप इस पोस्ट के नीचे कमेन्ट भी कर सकते हैं।

Leave a Comment